State News उत्तर प्रदेश

एम्बुलेंस नहीं मिला तो पति के शव को रिक्शे में लादकर रोते हुए ले गयी पत्नी

husband body on rickshaw
शर्मनाक – पति के शव को नहीं हुआ नसीब एम्बुलेंस तो रिक्शे में लादकर रोते हुए ले गयी पत्नी।

महोबा। उत्तरप्रदेश से मानवता को शर्मसार करने वाली खबर सामने आ रही है। यहां अस्पताल के एक वार्ड बॉय के मरने पर एम्बुलेंस भी नसीब नहीं हुआ। कोई चारा ना देखकर आखिर में पत्नी ने बेटे की मदद से पति को रिक्शे में लादकर (Husband Body on Rickshaw) रोते हुए लेकर गयी। यह दृश्य देखकर वहाँ मौजूद लोगों की आँखें भर आयी लेकिन कोई भी उनकी मदद को आगे नहीं आया। संवेदनहीनता का यह मामला उत्तरप्रदेश के महोबा के जिला अस्पताल की बतायी जा रही है।

यह भी पढ़ें : – नाबालिग लड़की का हाथ-पैर बांधकर, नशा देकर तीन दिन तक 4 युवक करते रहे गैंगरेप

Husband Body on Rickshaw

बताया जाता है की प्रमोद गुप्ता (50) वर्ष हमीरपुर के सिकंदरपुर के रहनेवाले थे। वह गहरौली के पीएचसी में वार्ड बॉय के पद पर कार्यरत थे। गुरूवार के दिन भी वह ड्यूटी पर आये थे लेकिन अचानक से उनकी तबियत बिगड़ने लगी। सुचना मिलने पर पहुंची पत्नी गीता अपने बेटे के साथ उन्हें लेकर जिला अस्पताल गयी। डॉक्टरों ने वहाँ प्रमोद गुप्ता को मृत घोषित कर दिया, शव ले जाने के लिए जब वाहन उपलब्ध कराने को कहा तो वाहन का ना होना बताकर मना कर दिया गया।

यह भी पढ़ें : – बाढ़ पीड़ितों के लिए 9 साल की लड़की ने गुल्लक फोड़कर दिए 11 हजार रुपये

पति के शव को लेजानेके लिए वाहन नहीं मिलने पर आखिर में पत्नी ने बेबसी में बेटे की मदद से पति के शव को रिक्शे में रखकर रोते हुए ले गयी। पति के शव को गोद में रखकर रिक्शे से जाती महिला को देखकर वहाँ मौजूद लोगों की आँखें भर आयी। लोगों को महिला की बेबसी पर तरस तो आ रहा था लेकिन कोई भी उनकी मदद के लिए आगे नहीं आया।

यह भी पढ़ें : – प्रेमिका से रात को मिलने गए प्रेमी को उन्मादी भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला

इस मामले पर जिला अस्पताल के सीएमएस डॉक्टर आरपी मिश्र ने बताया मृतक प्रमोद गुप्ता की मौत संदिग्ध लग रही थी। अस्पताल ने जब शव का पोस्टमार्टम कराने की बात की तो परिजन ज़बरदस्ती शव को ले गए। इस आशय में पुलिस को सुचना दे दी गयी है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...