30 C
Patna
September 23, 2019
बिहार

बिहार सरकार ने पान मसाला की बिक्री और निर्माण पर लगाया प्रतिबंध

paan masala banned in bihar
नीतीश सरकार ने शराबबंदी के बाद बिहार में पान मसाला की बिक्री और निर्माण पर 12 महीने के लिए लगाया प्रतिबंध।

पटना। बिहार में नितीश कुमार की सरकार ने जनता के हित में एक और सराहनीय फैसला लिया है। बिहार सरकार ने पान मसाला की बिक्री और निर्माण पर पूर्ण प्रतिबंध (Paan Masala Banned in Bihar) लगा देने का फैसला लिया है। राज्य सरकार ने मैग्नीशियम कार्बोनेट युक्त पान मसाला के वितरण, निर्माण, भंडारण और बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार के इस फैसले से 12 पान मसाला ब्रांड की बिक्री बिहार में गैरकानूनी हो जायेगी।

यह भी पढ़ें : – कश्मीरी लड़की से शादी करने पर बिहार के 2 युवक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Paan Masala Banned in Bihar

बिहार सरकार ने यह फैसला लोगों के स्वास्थ्य संबंधी चिंताओंको देखते हुए जनता के हित में यह फैसला लिया है। बिहार सरकार ने यह प्रतिबंध फिलहाल 12 महीने के लिए लगाया है। खाद्य और सुरक्षा विभाग ने कुछ नामी पान मसालों के नमूने जांच के लिए लिए थे, रिपोर्ट में मैग्नीशियम कार्बोनेट पाए जाने की पुष्टि हुई। मैग्नीशियम कार्बोनेट की वजह से ह्रदय रोग सम्बन्धी बीमारियां होने की संभावना रहती है।

यह भी पढ़ें : – अंजना सिंह और विनोद यादव की भोजपुरी फिल्‍म ‘गुंडा’ इस दिन होगी रिलीज

ख़बरों के मुताबिक़ जांच के लिए पान मसाला के जिन ब्रांड्स के नमूने लिए गए थे उनमें राजश्री पान मसाला, सिग्नेचर पान मसाला, रौनक पान मसाला, बहार पान मसाला, रजनीगंधा पान मसाला, सुप्रीम पान पराग पान मसाला, राज निवास पान मसाला, पान पराग पान मसाला, बाहुबली पान मसाला शामिल हैं। साथ ही मधु पान मसाला, कमला पसंद पान मसाला भी शामिल हैं। बिहार सरकार ने इससे पहले गुटखा और इसके सभी प्रकार के निर्माण, बिक्री, वितरण और भंडारण पर प्रतिबंध लगाया था।

यह भी पढ़ें : – टॉवल में काजल राघवानी ने निरहुआ संग डांस कर लगाई आग वायरल हुआ वीडियो

आपको बता दें की इससे पहले बिहार के सीएम नितीश कुमार ने 2015 में चुनाव में किये अपने वादे के मुताबिक़ राज्य में शराब की बिक्री पूर्ण रूप से प्रबंधित कर दिया था।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy