33 C
Patna
August 26, 2019
बिहार मुख्य समाचार राजनीती

अगर माँ बेटा को किस करे तो सेक्स है क्या – जीतन राम मांझी

jitan ram manjhi support azam khan statement
जीतनराम मांझी के विवादित बोल कहा – अगर माँ बेटा को किस करे तो सेक्स है क्या, जीतन राम मांझी आज़म खान के विवादित टिपण्णी पर समर्थन में उतरे।

नयी दिल्ली। संसद में महिलाओं पर अमर्यादित टिपण्णी को लेकर चौतरफा विरोध का सामना कर रहे आज़म खान को बिहार के पूर्व मुख्यम्नत्री जीतन राम मांझी का समर्थन मिला है। गौरतलब है की आज़म खान ने सदन में सांसद रमा देवी पर अमर्यादित टिपण्णी की थी जिसके लिए सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा और कई दल के सांसद आज़म खान को बर्खास्त करने की मांग कर रहे हैं। हर तरफ से विरोध झेल रहे आज़म खान के पक्ष में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी (Jitan Ram Manjhi support Azam khan statement) उतर आये हैं।

यह भी पढ़ें : – पटना में सेक्स रैकेट का पर्दाफ़ाश, नाबालिग लडकियां बड़े लोगों को भेजी जाती थी

जीतनराम मांझी ने आज़म खान की टिपण्णी का समर्थन करते हुए कहा है की उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है उनकी बातों का गलत मतलब निकाला जा रहा है।

यह भी पढ़ें : – बंदूक की नोक पर उतरवाए थे लड़कियों के कपड़े, जमीन पर पटककर खींचे न्यूड फोटो

Jitan Ram Manjhi support Azam khan statement

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने उलटा सवाल करते हुए कहा की जब कोई माँ अपने बेटे को चूमती है तो क्या उसे सेक्स कहा जाएगा। उसी तरह आज़म खान ने भी उसी भाव से वह बातें कही थी जिको लेकर इतना विवाद हो रहा है। उनकी बातों का लोग गलत मतलब निकाल रहे हैं।

यह भी पढ़ें : – एक्ट्रेस के हॉट तस्वीरों ने मचाया कोहराम वायरल हुई तस्वीरें

जीतनराम मांझी ने आगे कहा आज़म खान ने सांसद रमा देवी को बहन कहकर सम्बोधित किया है। इसपर अगर उनके दिल को ठेस पहुंची है तो आज़म खान को अविलम्ब माफ़ी मांग लेना चाहिए। लेकिन इस बात को लेकर इस्तीफा देने से बचना चाहिए। आज़म खान का कहने का वह मतलब नहीं था जैसा सभी समझ रहे हैं।

यह भी पढ़ें : – छेड़खानी का विरोध करने पर माँ-बेटी को सिर मुड़वाकर घुमाया

जीतनराम मांझी के इस बयान से बिहार की राजनीति में अलग भूचाल आ गया है। क्यूंकि आज़म खान के टिपण्णी की निंदा करने में जीतनराम मांझी की सहयोगी पार्टी राजद की राबड़ी देवी भी शामिल हैं। उनके अलावे टीएमसी और बीएसपी ने भी उनकी टिपण्णी का कडा विरोध किया था।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy