30 C
Patna
December 8, 2019
State News बिहार मुख्य समाचार

2022 तक जल जीवन हरियाली योजना पर 24 हजार 524 करोड़ खर्च करेगी बिहार सरकार

Jal Jeevan Hariyali scheme

पटना। पर्यावरण संतुलन के लिए बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए अगले तीन सालों में 24 हजार 524 करोड़ खर्च करने की योजना बनायी है, इसके लिए बिहार सरकार जल जीवन हरियाली योजना (Jal Jeevan Hariyali scheme) शुरू करने जा रही है। ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने इस योजना को विधान परिषद में सरकार की ओर से रखा। मंत्री ने कहा उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अगस्त 2020 तक 2.5 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। वायु प्रदुषण कम करने के लिए किसानों को खेतों में पुआल जलाने से रोकने के लिए उन्हें सरकार जागरूक कर रही है, साथ ही सड़क पर ई रिक्शा ओर सीएनजी वाहनों के प्रयोग को प्रोत्साहन दे रही है।

यह भी पढ़ें : – पटना की हवा हुई जहरीली, देश में सबसे ख़राब मुजफ्फरपुर दूसरे स्थान पर

Jal Jeevan Hariyali scheme

ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने विधान परिषद में जल जीवन हरियाली पर सरकार को ओर से अपना पक्ष रख रहे थे। मंत्री ने कहा 26 अक्टूबर 2019 को सीएम नितीश कुमार ने ग्रामीण विकास विभाग की 26039 योजनाओं का शिलान्यास किया। इन योजनाओं पर 1359 करोड़ खर्च होने का अनुमान लगाया गया है। बिहार सरकार इसे मिशन मोड़ के तहत करना चाहती है, इसके लिए जल जीवन हरियाली मिशन का गठन किया गया है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी गाँव व पंचायत आएंगे। पिछले दो सालों के कार्य का ब्यौरा देते हुए कहा मनरेगा के तहत पिछले दो सालों में 1 करोड़ से भी अधिक पौधे लगाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : – प्याज की माला पहनकर विधानसभा पहुंचे राजद नेता, बढ़ती कीमतों के विरोध में अपनाया अनूठा तरीका

मंत्री ने आगे कहा उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अगस्त 2020 तक पुरे प्रदेश में 2.5 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। स्वच्छ हवा ओर वातावरण के लिए पृथ्वी पर 33% हरियाली का होना अनिवार्य है। वायु प्रदुषण को कम करने के लिए बिहार सरकार ई रिक्शा, बैट्री चलित वाहन तथा सीएनजी वाहन उपयोग करने का प्रोत्साहन दे रही है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री ने पहल करते हुए बैट्री चालित वाहन का उपयोग करना शुरू कर दिया है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...