मुख्य समाचार राजनीती

बीजेपी ने 1 साल में खो दिए 5 रत्न, पहले वाजपेयी, अनंत, पर्रिकर, सुषमा अब जेटली

bjp lost their five senior leaders
भाजपा ने 1 साल में अपने 5 बहुमूल्य रत्न खो दिए, पहले वाजपेयी, अनंत, पर्रिकर और अब अरुण जेटली छोड़कर चले गए।

देश। साल का अगस्त महीने ने भाजपा को काफी दुःख दिए हैं। अगस्त महीने में भाजपा की नींव रखने वाले तीन दिग्गज नेताओं अटल बिहारी वाजपेयी, सुषमा स्वराज, और अब अरुण जेटली दुनिया को अलविदा ( BJP Lost their Five Senior Leaders ) कह गए। भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन 2018 में हुआ था वह महीना भी अगस्त ही था। इसके बाद अनंत कुमार फिर पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर की मृत्यु हो गयी। अभी कुछ दिन ही पहले अगस्त महीने में सुषमा स्वराज और अब अरुण जेटली दुनिया को अलविदा कह गए।

यह भी पढ़ें : – अरुण जेटली हुए पंचतत्व में विलीन राजकीय सम्मान के साथ निगमबोध घाट पर अंतिम विदाई, बेटे रोहन ने दी मुखाग्नि

BJP Lost their Five Senior Leaders

Atal Bihari Vajpayee

भारत रत्न से सम्मानित और पूर्व भारतीय प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन 16 अगस्त 2018 को हुआ था। वह लम्बे समय से बीमार थे, उनकी उम्र 94 साल थी। वाजपेयी जी 3 बार भारत के प्रधानमन्त्री रह चुके थे। प्रथम बार 1996 में प्रधानमन्त्री बने थे लेकिन उनकी सरकार मात्र 13 दिन में ही गिर गयी थी। 1998 में वाजपेयी जी दुबारा प्रधानमन्त्री बने लेकिन इस बार भी वह कार्यकाल पूरा नहीं कर सके। तीसरी बार वह 1999 में प्रधानमन्त्री बने और 5 साल का कार्यकाल पूरा किया। 2014 में उन्हें भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें : – 15 साल के बच्चे को 7 टुकड़ों में काटकर फेंका, परिजनों का रो रोकर बुरा हाल

bjp leader ananat kumar

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का निधन 59 साल की उम्र में पिछले साल 12 नवंबर को हुआ था। अनंत कुमार मोदी सरकार में संसदीय कार्यमंत्री थे। वह लगातार छह बार से कर्नाटक के बेंगलुरु साउथ से सांसद रहे। अनंत कुमार वाजपेयी सरकार में भी मंत्री रह चुके थे। वाजपेयी सरकार में उन्हें सिविल एविशन विभाग की जिम्मेदारी दी गयी थी।

यह भी पढ़ें : – मेरा दोस्त अरुण चला गया और मैं इतनी दूर बैठा हूं – नरेंद्र मोदी

Manohar Parrikar

चार बार के मुख्यमंत्री और पुर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन 17 मार्च 2019 को हुआ वह 63 साल के थे। मनोहर पर्रिकर लम्बे समय से अग्नाशय संबंधी बीमारी से जूझ रहे थे। वह ऐसे पहले मुख्यमंत्री थे जिन्होंने आई.आई.टी. से स्नातक किया था। बीजेपी को गोआ में सत्ता में लाने का श्रेय मनोहर पर्रिकर को ही दिया जाता है।

यह भी पढ़ें : – 100 से भी ज़्यादा मर्द तब तक बलात्कार करते थे जब तक की वो दर्द से बेहोश नहीं हो जाती थी

Sushma Swaraj

भाजपा की दिग्गज नेताओं में शुमार पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन 67 साल की उम्र में 7 अगस्त 2019 को हुआ। उन्हें सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया पर उन्हें बचाया नहीं जा सका। भारत की पहली महिला विदेश मंत्री होने का गौरव उनके नाम दर्ज है। साथ ही किसी राजनितिक दल की पहली महिला प्रवक्ता बनने की उपलब्धि भी सुषमा स्वराज के नाम ही दर्ज है।

यह भी पढ़ें : – पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 वर्ष की उम्र में निधन, एम्स में ली अंतिम सांस

bjp lost their five senior leaders Arun Jaitley

बीजेपी के संकटमोचन और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन 66 साल की उम्र में 24 अगस्त 2019 को एम्स में हो गया। उनकी मौत की वजह ह्रदयगति का रुकना बताया जाता है। बीजेपी सरकार ने पहले कार्यकाल में कई कड़े फैसले लिए उसके पीछे अरुण जेटली को ही माना जाता है। मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी और जीएसटी जैसे कड़े फैसलों की सफलता के पीछे तत्कालीन वित्तमंत्री अरुण जेटली का बहुत बड़ा हाथ माना जाता है।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...