30 C
Patna
November 21, 2019
मुख्य समाचार विदेश

कश्मीर मसले पर ट्रम्प को मोदी की दो टूक कहा तीसरे की जरुरत नहीं, ट्रंप ने भी हां में हां मिलाई

g 7 summit france
मोदी ने ट्रम्प से कहा- कश्मीर भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला, किसी तीसरे की आवयश्यकता नहीं ट्रंप ने भी हां में हां मिलाई।

पेरिस (G 7 Summit France)। कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका से हस्तक्षेप की उम्मीद कर रहे पाकिस्तान को करारा झटका लगा है। जी-7 समिट के दौरान पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बिच लगभग 40 मिनट तक बातचीत हुई। इस मुलाक़ात में पीएम मोदी ने ट्रम्प के सामने यह स्पष्ट कर दिया की यह भारत पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है। इसके लिए हम किसी को कष्ट नहीं देना चाहते हैं।इसके पहले ट्रम्प ने कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए मध्यस्थता करने की पेशकश की थी।

यह भी पढ़ें :- नाबालिग से रेप के आरोपी को पंचों ने 5 लाख जुर्माना लगाकर मामला निपटाया

G 7 Summit France

पीएम नरेंद्र मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप के साथ साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा – भारत और पाकिस्तान के बीच सारे मुद्दे द्विपक्षीय हैं हम इस मसले पर किसी और को कोई कष्ट देना नहीं चाहते। 1947 के पहले भारत – पाकिस्तान एक ही थे हम अभी भी साथ मिलकर मुद्दे सुलझा सकते हैं। पीएम मोदी ने आगे कहा डोनिन देशों के लोगों की भलाई के लिए भारत पाकिस्तान को मिलकर काम करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : – मेरा दोस्त अरुण चला गया और मैं इतनी दूर बैठा हूं – नरेंद्र मोदी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने पूर्व में दिए बयान से यूटर्न लेते हुए कहा- कल रात हमने पीएम मोदी से कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा की थी उन्होंने बताया की स्थिति पुरे नियंत्रण में हैं। ट्रम्प ने निकट भविष्य में उम्मीद जताई है की पीएम मोदी पाकिस्तान से बातचीत करेंगे । उन्होंने कहा दोनों देशों के प्रधानमन्त्री मिलकर कश्मीर मुद्दे को सुलझा सकते हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का यह बयान पाकिस्तान के लिए किसी झटके से कम नहीं है। आपको बता दें की पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान डोनाल्ड ट्रम्प से कश्मीर मुद्दे पर हस्तक्षेप करने की अपील कर चुके हैं, इसके बाद डोनाल्ड ट्रम्प दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने की पेशकश कर चुके हैं।

Loading...

संबंधित ख़बरे

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Loading...